Skip to main content

Posts

Showing posts from December 1, 2010

अनजान

एक बार मेरी नज़रों ने से पूछा, की
तुम क्यों उन्हें देखकर नज़रें हटा लेते हो,  की जिसे तुम हर वक़्त सोचा करते हो  क्यों उस से मिलकर भी अनजान बने रहते हो?

मैंने जवाब कुछ यूं दिया... "मै डरता हूँ की कहीं उनकी आँखों में देखूंगा तो सब कुछ भूल बैठूँगा,
उनसे अगर मिल गया तो उनमे खो जाऊंगा,
वो जब मुझसे अलग होंगे, तो मै खुद से रूठ बैठूँगा
इसलिए,मै चुप हूँ
की न हमारी बात हो,
और जो हो भी जाए बात,
तो फिर न मुलाकात हो"!